दून डीएम एक्शन में, आज अचानक पहुंच गए तहसील कॉम्पलेक्स, जानें फिर क्या हुआ

0
39
दून डीएम एक्शन में, आज अचानक पहुंच गए तहसील कॉम्पलेक्स, जानें फिर क्या हुआ


देहरादून. देहरादून के जिलाधिकारी आर राजेश कुमार इन दिनों एक्शन में नजर आ रहे हैं. पिछले 3 दिन में विभागों में चेकिंग और मॉनीटरिंग से लेकर डिपार्टमेंट में चल रहे काम देखने डीएम कभी भी कहीं भी पहुंच जा रहे हैं. सभी विभागों को डीएम ने सख्त संदेश दे दिया है कि तत्काल अपनी कार्यप्रणाली और रीति-नीति में परिवर्तन लाएं. तहसील सदर में किए गए आकस्मिक निरीक्षण में उन्होंने तहसील कॉम्पलेक्स में सामान्य नागरिकों को दी जाने वाली रोजमर्रा की सर्विस डिलीवरी, गुणवत्ता, कर्मचारियों की उपस्थिति, तहसील द्वारा बनाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के प्रमाण-पत्रों की पेन्डेंसी, साफ-सफाई, सिटिंग अरेंजमेंट इत्यादि व्यवस्थाओं का अवलोकन करते हुए तहसीलदार सदर को सख्त चेतावनी दी कि तत्काल तहसील की कार्यप्रणाली में सुधार करें, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी.

तहसील कार्मिकों की उपस्थिति पंजिका में प्रॉपर उपस्थिति दर्ज न होने पर जिलाधिकारी नाराज दिखे. उन्होंने सभी कर्मचारियों को काम में सुधार लाने का निर्देश सख्त लहजे में दिया. तहसीलदार उसे उन्होंने कहा कि उपस्थिति पंजिका का नियमित रूप से वह अवलोकन करें और अटेंडेंस उन्हें फोन पर दें. तहसीलदार द्वारा अवगत कराया गया कि 8 कार्मिक फिल्ड में गए हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार को निर्देश दिया कि उन सभी 8 कार्मिकों के फिल्ड विजिट का डिटेल आज ही दें कि वे कहां गए थे और क्या काम किया. उन्होंने निर्देश दिया कि जो कार्मिक फिल्ड में जाते हैं, उनका विवरण भी उपस्थिति पंजिका में दर्ज किया जाए.

मूल निवास, जाति प्रमाण-पत्र, उत्तजीवी प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र इत्यादि की पेन्डेंसी (बैकलॉग) चेक करते हुए जिलाधिकारी ने तहसीलदार को शीघ्रता से पेन्डेंसी खत्म करने और आगे से यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि विभिन्न प्रकार के प्रमाण-पत्रों में किसी भी दशा में एक सप्ताह से अधिक पेंडेसी नहीं रहनी चाहिए. उन्होंने निर्देश दिया कि विभिन्न पटलों पर बैठने वाले कार्मिकों का नाम, मोबाइल नम्बर और क्षेत्र लिखा होना चाहिए. साथ ही एन्ट्रीगेट पर भी सभी कार्मिकों के नाम, कार्यक्षेत्र और दूरभाष नंबर लिखा होना चाहिए ताकि जनता को जानकारी मिले कि संबंधित कार्मिक उनके क्षेत्र से संबद्ध है. जिलाधिकारी ने तहसील परिसर की खराब लिफ्ट के सम्बन्ध में तत्काल एमडीडीए और हुडा के अधिकारियों को तत्काल लिफ्ट ठीक करने का निर्देश दूरभाष से दिया. जिलाधिकारी को हुडा के अधिकारियों ने लिफ्ट ठीक करने का दूरभाष पर आश्वासन दिया, जिस पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार सदर को लिफ्ट सुधारीकरण की रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here