भूख और कोरोना का कहर: तालिबानी वादों के बावजूद काली है अफगानिस्तान की सच्चाई

0
163
भूख और कोरोना का कहर: तालिबानी वादों के बावजूद काली है अफगानिस्तान की सच्चाई


काबुल. अफगानिस्तान में तालिबान (Taliban) अपनी अच्छी और नैतिक छवि पेश करने के लिए कई दावे कर रहा है लेकिन देश की सच्चाई काली (Stark Reality) दिखाई दे रही है. कई अन्य भारतीयों के साथ काबुल से बचाव अभियान में वापस लाए गए जीत बहादुर थापा वहां के बारे में सोच कर भी कांप जाते हैं. वो याद करते हैं कि कैसे काबुल छोड़ने के पहले उन लोगों को तालिबानियों ने पांच घंटे तक खुले मैदान में बिठाए रखा था.

30 वर्षीय थापा काबुल में एक कंसल्टेंसी फर्म में सुपरवाइजर के तौर पर काम करते थे. दूसरी बार सत्ता पर काबिज होने के बाद तालिबान अपनी छवि को लेकर दावे करता रहा रहा है. लेकिन लोगों के बीच से डर नहीं जा रहा है. देश में कई जगह घटित हो रही घटनाएं भी डर को बढ़ा रही हैं.

लोगों को लूट रहा तालिबान!
थापा कहते हैं कि उनके साथ 118 भारतीय किसी तरह कोशिश में लगे थे कि वो भारत वापस पहुंच जाएं. कुछ लुटेरों ने उन्हें रास्ते में रोका और 1 लाख रुपए सहित अन्य चीजें लूट लीं. जब भारतीयों ने कहा कि उन्हें लूटा गया तो तालिबानियों ने जवाब दिया कि ऐसा किसी लोकल अपराधी गैंग द्वारा किया गया होगा. थापा कहते हैं कि इस वक्त पूरे अफगानिस्तान में अघोषित कर्फ्यू के हालात हैं. सभी कंपनी और दफ्तर बंद हैं. कोई भी अपने घर से बाहर नहीं निकल रहा है.

क्या बोले अमरुल्लाह सालेह
मंगलवार को अफगानिस्तान के ‘केयरटेकर प्रेसिडेंट’ और तालिबान को खुली चुनौती देने वाले अमरुल्लाह सालेह ने भी देश में मानवीय त्रासदी का जिक्र किया है. उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया-तालिबान के लोग अंदराब घाटी में खाना और तेल नहीं पहुंचने दे रहे. मानवीय स्थिति बेहद दर्दनाक है. हजारों की संख्या में महिलाएं और बच्चें पहाड़ों पर भाग गए हैं. बीते दो दिनों के दौरान तालिबान बच्चों और बूढ़ों को अगवा कर उनकी आड़ में लोगों के घर तलाशी अभियान चला रहा है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जाहिर की है चिंता
वहीं विश्व स्वाथ्य संगठन ने देश में कोरोना और दवाओं की स्थिति पर चिंता जाहिर की है. संगठन ने कहा है कि बाहर से मेडिकल उपकरण प्रतिबंधित कर दिए जाने के बाद अब देश में सिर्फ एक सप्ताह की सप्लाई ही बची है. वहीं संगठन ने देश में कोरोना के हालात को लेकर भी चिंता जाहिर की है. बीते सप्ताह के दौरान अफगानिस्तान में कोरोना टेस्टिंग 77 प्रतिशत तक कम हो गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here