PM मोदी आज UNSC बैठक की करेंगे अध्यक्षता, समुद्री सुरक्षा पर होगी परिचर्चा, जानें 10 खास बातें

0
160
UP: 80 लाख लोगों को आज बंटेगा फ्री राशन, पीएम मोदी करेंगे लाभार्थियों से संवाद


पीएम मोदी (फ़ाइल फोटो)

UNSC Debate: 75 साल में ये पहला मौका है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यीय निकाय के एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की बैठक की अध्यक्षता करेंगे. इस दौरान वो UNSC की समुद्री सुरक्षा पर एक खुली परिचर्चा में भाग लेंगे. परिचर्चा का विषय है ‘समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा: अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की आवश्यकता’. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के मुताबिक इस बैठक में यूएनएससी के सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों और सरकार के प्रमुखों और संयुक्त राष्ट्र प्रणाली एवं प्रमुख क्षेत्रीय संगठनों के उच्च स्तरीय विशेषज्ञों के भाग लेने की उम्मीद है.

सुरक्षा परिषद बैठक की अध्यक्षता करने वाले पीएम मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं.आईए एक नजर डालते हैं इस मीटिंग की 10 बड़ी बातों पर…

75 साल में ये पहला मौका है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यीय निकाय के एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे

इस परिचर्चा में समुद्री अपराध और असुरक्षा का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने तथा समुद्री क्षेत्र में समन्वय को मजबूत करने के तरीकों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा.

इस परिचर्चा में समुद्री अपराध और असुरक्षा का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने तथा समुद्री क्षेत्र में समन्वय को मजबूत करने के तरीकों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा.

समुद्री सुरक्षा का व्यापक दृष्टिकोण, वैध समुद्री गतिविधियों की रक्षा और समर्थन करने में सक्षम होगा, साथ ही इसके माध्यम से समुद्री क्षेत्र में पारंपरिक और गैर-पारंपरिक खतरों का मुकाबला भी किया जा सकेगा.

PMO ने कहा हमारी सभ्यता पर आधारित लोकनीति, समुद्र को साझा शांति और समृद्धि के प्रवर्तक के रूप में देखती है। इसे ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2015 में ‘सागर'(एसएजीएआर-क्षेत्र में सभी की सुरक्षा और विकास) के दृष्टिकोण को सामने रखा। यह दृष्टि, महासागरों के सतत उपयोग के लिए सहकारी उपायों पर केंद्रित है और सुरक्षित तथा स्थिर समुद्री क्षेत्र के लिए एक रूपरेखा प्रदान करती है.’

इस बैठक में शामिल होने वाले नेता हैं- रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो के राष्ट्रपति फेलिक्स- एंटोनी त्सेसीकेदी त्शिलोम्बो और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन

आज के कार्यक्रम में भाग लेने वाले अन्य नेताओं में नाइजर के राष्ट्रपति मोहम्मद बज़ूम, केन्या के राष्ट्रपति उहुरू केन्याटा और वियतनाम के प्रधान मंत्री फाम मिन्ह चिन्च हैं.

पिछले हफ्ते, अफगानिस्तान की स्थिति पर भारत की अध्यक्षता में एक और बैठक बुलाई गई थी, जहां सदस्य देशों ने बिगड़ती स्थिति के बारे में चिंता व्यक्त की और राजनीतिक समाधान का आह्वान किया.

पाकिस्तान ने विशेष बैठक में न्योता न दिए जाने पर नाराजगी जताई थी. शुक्रवार को यूएनएससी की बैठक के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में, संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि, राजदूत मुनीर अकरम ने कहा, ‘हमने भागीदारी के लिए एक औपचारिक अनुरोध किया था लेकिन इसे अस्वीकार कर दिया गया था.’

भारत इस साल अगस्त महीने के लिए यूएनएससी की अध्यक्षता कर रहा है. एक अगस्त से भारत ने यह जिम्मेदारी संभाल भी ली है. यूएनएससी में केवल पांच स्थायी सदस्य अमेरिका, चीन, ब्रिटेन, रूस और फ्रांस है. वर्तमान में भारत दो साल के लिए सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here