#Rakshabandhan: भाई-बहन की इस जोड़ी ने घर के एक कोने से शुरू किया ये कारोबार, आज करोड़ों में हो रही कमाई

0
154
#Rakshabandhan: भाई-बहन की इस जोड़ी ने घर के एक कोने से शुरू किया ये कारोबार, आज करोड़ों में हो रही कमाई


नई दिल्ली. आज रक्षाबंधन (#Rakshabandhan) का त्योहार है. भाई-बहन के लिए यह दिन बेहद खास है. जब दिन बेहद खास (Rakshabandhan Festival) हो तो बातें भी खास होनी चाहिए. आज हम आपको एक ऐसे भाई-बहन की स्टार्टअप की कहानी बता रहे हैं जिन्होंने बचत के पैसों के अपना कारोबार शुरू (Own business) किया और आज करोड़ों में कमाई कर (Earning money) रहे हैं. जी हां.. ये भाई-बहन (Brother-sister) की जोड़ी है-आयुष और आंचल पोद्दार की. इनका ई-कॉमर्स स्टार्टअप ‘द मेसी कार्नर’ है. पर्सनलाइज़्ड गिफ्टिंग स्टार्टअप द मेसी कार्नर अपनी यात्रा और लाइफस्टाइल के एक्सेसरीज के लिए जाना जाता है. कोरोनावायस के दौरान मुंबई स्थित इस स्टार्टअप (Startup idea) ने अपने प्रोडक्ट्स को इनोवेशन तरीके से पेश किए. आइए जानते हैं इनकी सफलता की कहानी…

10 लाख रुपये में शुरू किया यह कारोबार
द मेसी कॉर्नर (TMC) की स्थापना 2015 में भाई-बहन आयुष और आंचल पोद्दार ने की है. आयुष 34 साल के हैं और मुंबई विश्वविद्यालय से मार्केटिंग में MBA हैं. वहीं, उनकी बहन आंचल ब्रिटेन के बाथ विश्वविद्यालय से मार्केटिंग में मास्टर्स हैं. इन दोनों ने अपने सेविंग्स मनी से यह कारोबार शुरू किया. इसे इन्होंने अपने घर के कोने से ही शुरू कर दिया. योर स्टोरी को दिए एक इंटरव्यू में आंचल बताती हैं कि हमने अपने स्टार्टअप को घर से ही शुरू किया. हमारी मां कमरे की सफाई के लिए हम पर चिल्लाती रहती थी और हम कोशिश करते थे, लेकिन मिनटों में फिर से सब गड़बड़ हो जाता था. इसलिए हमने कंपनी का नाम ‘द मेसी कार्नर’ रखने का निर्णय लिया.

वह कहती है करीब 10 लाख रुपये के निवेश से हमने अपना कारोबार शुरू किया है. वर्तमान में हमारे पास 20 लोगों की टीम है. वे कहते हैं, हम दिन के दौरान पार्टनर और रात में भाई-बहन होते हैं.

ये भी पढ़ें- 3.40 रुपये वाले इस स्टॉक ने निवेशकों को बनाया करोड़पति, 1 लाख बन गए ₹1.61 करोड़ , जानिए कैसे?

कैसे होता है कारोबार
बता दें कि यह स्टार्टअप ट्रैवल, लाइफस्टाइल, स्टेशनरी और तकनीकी सामान जैसी कैटेगरी के प्रोडक्ट्स को तैयार करती है. इनके सभी प्रोडक्ट्स की कीमत 299 रुपये से 3,999 रुपये के बीच होते हैं. यह स्टार्टअप अपने उत्पादों को इन-हाउस डिजाइन करता है. मुंबई, दिल्ली और चेन्नई में स्थानीय बाजारों से कच्चे माल का स्रोत है और मुंबई के वसई में TMC के कारखाने में उत्पादों का निर्माण होता है. आयुष और आंचल के मुताबिक, वे पर्सलाइजेशन की प्रक्रिया तब शुरू करते हैं जब उनके पास ऑर्डर आते हैं.

ये भी पढ़ें- Amazon के पास है ‘सीक्रेट’ वेबसाइट, जहां आधी से भी कम कीमत पर मिलते हैं सामान, पसंद न आए तो 30 दिन में पैसे वापस

यह सुनिश्चित करने के लिए सभी उत्पादों को हैंडक्राफ्ट किया जाता है जिससे गुणवत्ता और पैकिंग सुनिश्चित होती है. आज कंपनी के पास करीबन 1.5 लाख का यूजर बेस है. स्टार्टअप ने अब तक दो लाख से अधिक ऑर्डर पूरे किए हैं, जिसमें लगभग चार लाख आइटम शामिल हैं. संस्थापक का दावा है कि स्टार्टअप ने वित्त वर्ष 2015 में 6 करोड़ रुपये का रेवेन्यू दर्ज किया. वित्त वर्ष 2021 के लिए लक्ष्य 10-20 करोड़ रुपये के रेवेन्यू अर्जित करना है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here