10 दिन पहले भारतीय क्रिकेट से लिया था संन्यास, अब अमेरिका में चौके-छक्कों की बरसात कर जड़ी पहली फिफ्टी

0
199
10 दिन पहले भारतीय क्रिकेट से लिया था संन्यास, अब अमेरिका में चौके-छक्कों की बरसात कर जड़ी पहली फिफ्टी


नई दिल्ली. भारत को 2012 में अपनी कप्तानी में अंडर-19 विश्व कप जिताने वाले उनमुक्त चंद ने 10 दिन पहले भारतीय क्रिकेट से संन्यास (Unmukt Chand Retires From Indian Cricket) लिया था. अब उनमुक्त ने अमेरिका की माइनर लीग क्रिकेट (Minor League Cricket) में पहला अर्धशतक जड़ा है. वो इस लीग में सिलिकॉन वैली स्ट्राइकर्स (Silicon Valley Strikers) टीम की तरफ से खेल रहे हैं.

उन्होंने अमेरिका की धरती पर अपनी पहली फिफ्टी का वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर किया. इसमें वो एक के बाद एक ताबड़तोड़ शॉट्स लगाते नजर आ रहे हैं. हालांकि, इस टूर्नामेंट में उनकी शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. वो पहले मैच में 3 गेंदें खेलकर बिना खाता खोले आउट हो गए थे.

उनमुक्त ने इस वीडियो के साथ शानदार कैप्शन भी दिया. उन्होंने लिखा अमेरिका की मिट्टी पर पहली ऑफिशियल फिफ्टी. बता दें कि 28 साल के इस बल्लेबाज ने 13 अगस्त को ट्वीट कर भारतीय क्रिकेट से संन्यास लेने की जानकारी दी थी. तब उन्होंने लिखा था कि अब उनकी जिंदगी के नए सफर की शुरुआत हो रही है. उन्मुक्त ने अपनी यादों का एक वीडियो भी शेयर किया था. इसमें उनके करियर के यादगार पल शामिल थे.

उनमुक्त को दिल्ली टीम में नजरअंदाज किया जा रहा था
उनमुक्त 2019-20 के घरेलू क्रिकेट सीजन में उत्तराखंड की तरफ से खेले थे. लेकिन वो बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाए. उन्होंने इस टीम के साथ आखिरी 6 फर्स्ट क्लास मैच में 144 रन बनाए थे. इसके बाद उन्होंने 2020-21 सीजन में दिल्ली की तरफ से किस्मत आजमाने का फैसला किया था. हालांकि, यहां भी सेलेक्टर्स ने उन्हें नजरअंदाज किया. उन्हें विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) के लिए टीम में जगह दी गई थी. लेकिन 1 मैच भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला.

एक के बाद एक क्रिकेटर छोड़ रहे भारत, अब वर्ल्ड कप चैंपियन टीम के इस खिलाड़ी ने अमेरिका को चुना

सहवाग के साथ ओपनिंग करने वाले भारतीय बल्लेबाज का हुआ मानसिक शोषण! क्रिकेट के लिए छोड़ा देश

उनमुक्त ने DDCA पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया था
भारतीय क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद इस बल्लेबाज ने एक इंटरव्यू में आरोप लगाया था कि उन्हें दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन ने मानसिक रूप से प्रताड़ित किया. वो कुछ महीनों पहले तक संन्यास के बारे में बिल्कुल नहीं सोच रहे थे. लेकिन डीडीसीए की राजनीति के बाद उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कहने का मन बनाया औऱ अमेरिका में लीग क्रिकेट खेलने का फैसला लिया.

उनमुक्त ने दिल्ली और उत्तराखंड के लिए रणजी ट्रॉफी खेली है और उन्होंने 67 फर्स्ट क्लास मैच में 8 शतक की मदद से 3379 रन बनाए. उनमुक्त चंद ने टी20 क्रिकेट में भी 3 शतक ठोके हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here