बदला नहीं है तालिबान, अपनी सरकार को मान्यता दिलवाने को पेश कर रहा नरम छवि: बाइडन

0
134
बदला नहीं है तालिबान, अपनी सरकार को मान्यता दिलवाने को पेश कर रहा नरम छवि: बाइडन


नई दिल्ली. अफगानिस्तान पर काबिज होने के बाद तालिबान (Taliban) अब दुनिया में अपनी रहमदिल तस्वीर पेश करने की कोशिश कर रहा है. इसे लेकर अतिवादी संगठन ने कई घोषणाएं भी हैं. लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने कहा है-मुझे नहीं लगता है कि इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन में कोई बदलाव हुआ है बल्कि अपने रूढ़िवादी विश्वास के प्रति वो पहले से ज्यादा समर्पित हुआ है. एबीसी न्यूज को दिए इंटरव्यू में जो बाइडन ने कहा है कि तालिबान अपनी सरकार को मान्यता दिलवाना चाहता है, इसलिए नरम छवि पेश कर रहा है.

उन्होंने कहा-मुझे लगता है कि वो (तालिबान) अस्तित्व के संकट से गुजर रहा है. उनके मन में संदेह है कि क्या उन्हें अंतरराष्ट्रीय समुदाय मान्यता प्रदान करेगा? मुझे नहीं लगता कि वो ऐसा करेंगे. बता दें कि अफगानिस्तान से सेना हटाए जाने को लेकर बाइडन वैश्विक आलोचनाओं के घेरे में आ गए हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बीते सोमवार को अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे और अमेरिकी सेना के पुल आउट के मुद्दे पर देश को संबोधित किया था.

अफगानी नेतृत्व पर फोड़ चुके हैं ठीकरा
अफगानी नेतृत्व पर ठीकरा फोड़ते हुए बाइडन ने कहा था कि अपने लोगों की भलाई के लिए साथ आने में अफगानी नेता नाकाम रहे. जब सबसे ज्यादा जरूरत थी तब वे अपने भविष्य के लिए खड़े नहीं हो पाए. बाइडन ने कहा था कि मुझे अपने फैसले पर कोई खेद नहीं है कि मैंने अफगानिस्तान में अमेरिका की लड़ाई को समाप्त किया.

अमेरिकी सेना को वापस बुलाने का एक अच्छा समय कभी नहीं था
बाइडन ने कहा कि हमने किन हालातों में अफगानिस्तान से सेना वापस बुलाई, ये आप सब लोग जानते हैं. हमारी सेना लगातार लड़ने का जोखिम नहीं उठा सकती थी. उन्होंने कहा कि 20 सालों के बाद मैंने कठिन तरीके से सीखा है कि अमेरिकी सेना (अफगानिस्तान से) को वापस लेने का एक अच्छा समय कभी नहीं था. हम जोखिम के बारे में स्पष्ट हैं, ये हमारी अपेक्षा से कहीं अधिक तेजी से सामने आया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here