UPSC Exam Tips: यूपीएससी की तैयारी के लिए अपनाएं ये आसान टिप्स, मिलेगा फायदा

0
326
UPSC Exam Tips: यूपीएससी की तैयारी के लिए अपनाएं ये आसान टिप्स, मिलेगा फायदा


हाइलाइट्स

  • सिविल सर्व‍िस की परीक्षा के लिए ऐसे करें तैयारी
  • जानें सभी टॉपिक्स को कैसे रखें याद

UPSC Exam Preparation Tips: जल्‍द ही सिविल सर्व‍िस की परीक्षा होने वाली है, जिसकी तैयारियों में इस समय छात्र जुटे हुए हैं। कोरोना के कारण इस समय ज्‍यादातर उम्‍मीदवार अपने घर पर रहकर खुद से व ऑनलाइन परीक्षा की तैयारियां कर रहे हैं। कोरोना के इस भयावह आतंकी माहौल में आप किस मानसिकता से गुजर रहे होंगे, इसका अनुमान लगा पाना बिल्कुल भी कठिन नहीं है, लेकिन एक बात मैं यहां जरूर कहना चाहूंगा कि यदि आप सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो आपको इस समय दूसरों की तुलना में अधिक ठोस और स्थिर मस्तिष्क वाले एक कर्मठ युवा का परिचय देना होगा।

तैयारी में ढील नहीं
आपको यह बात गांठ बांध लेनी चाहिये कि चाहे वह प्रारंभिक परीक्षा हो या मुख्य परीक्षा या फिर अंतिम चयन ही क्यों न हो, कटऑफ मार्क्स के कम होने की उम्मीद बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। पिछली बार के परीक्षा परिणाम इस तथ्यों को प्रमाणित भी करते हैं, इसलिए बेहतर होगा कि आप अपनी तैयारी में किसी भी तरह की कोई ढील न दें, पूरी मेहनत से अपने पाठ्यक्रम की तैयारी करें, जिससे आप दूसरों से बेहतर कर सकें।

दो भाग में बांट कर करें तैयारी
आपके सामने जो वक्त है, उसे आप दो भागों में बांट सकते हैं, इसके पहले भाग का संबंध मुख्‍य परीक्षा की तैयारी से है, यह ठीक है कि प्रारंभिक परीक्षा के बाद आपको मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिये लगभग तीन माह का समय मिलेगा, लेकिन बेहतर होगा कि आप उस समय को रिवीजन के लिए सुक्षित रखें। ऐसे में आपको करना यह चाहिये कि फिलहाल बचे हुए दिनों को पूरी तरह से मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए समर्पित कर दें। मुख्य परीक्षा की तैयारी से मेरा मतलब है, वैकल्पिक विषय और निबंध लेखन की तैयारी से।
इसे भी पढ़ें:Career In Liberal Arts: क्‍या है लिबरल आर्ट्स? कितने हैं करियर ऑप्शन, यहां मिलेगी पूरी जानकारी

ऑप्शसनल पेपर में अच्छा स्कोर
पिछले कुछ वर्षों से देखने में आ रहा है कि वे ही प्रतियोगी बेहतर सफलता प्राप्त कर पा रहे हैं, जिनके ऑप्शसनल पेपर में अच्छा स्कोर होता है, आपको फिलहाल इसे समय देना चाहिए, आप खासकर अपने विषय के उन हिस्सों पर फोकस कर सकते हैं, जिन्हें आपने या तो पूरी तरह छोड़ दिया है या फिर उन्हें थोड़ी उदासीनता के साथ पढ़ा है। इससे आपका यह विषय अधिक बेहतर हो सकेगा।

निबंध लेखन की प्रैक्टिस
निबंध लेखन की प्रैक्टिस करना समय का एक बेहतर सदुपयोग हो सकता है। आप यह योजना बना सकते हैं कि मैं रविवार को कम से कम दो निबंध तो लिखूंगा ही। इससे आपकी निबंध लिखने की अच्‍छी प्रैक्टिस हो जायेगी। इसका आपको आगे चलकर लाभ मिलेगा। साथ ही यदि कुछ समय जनरल स्टपडीज और आप्शेनल पेपर के आन्सर राइटिंग को दे सकेंगे तो बेहतर होगा। बाद के जो दो महीने बचेंगे, उन्हें आप पूरी तरह से प्रारंभिक परीक्षा को दें।
इसे भी पढ़ें:Career in Medicine: 12वीं के बाद मेडिसिन में बना सकते हैं बेहतर करियर, ऐसे करें तैयारी

स्मार्ट वर्क की जरूरत
प्रतिवर्ष लाखों उम्मीदवार यूपीएससी परीक्षा में भाग लेते हैं लेकिन उनके द्वारा की गई कठोर मेहनत सही दिशा में की गई तैयारी से ही इस परीक्षा में सफलता सुनिश्चित होती है। आईएएस परीक्षा में एक कड़ी मेहनत के साथ-साथ एक स्मार्ट सोच और रणनीति का भी बहुत बड़ा योगदान होता है। कई उम्मीदवार इस परीक्षा में काफी समय देते हैं और इसके बावजूद भी वह सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं। इसका प्रमुख कारण यह है कि वह केवल हार्ड वर्क करते हैं जबकि यदि हम इस परीक्षा की प्रकृति को देखें तो इसमें सफल होने के लिए एक विशेष अथवा स्मार्ट वर्क की आवश्यकता है। यही स्मार्ट वर्क या रणनीतिबद्ध तैयारी आपकी सफलता का मूलमंत्र साबित हो सकती है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here